SQLSTATE[08004] [1040] Too many connections LaxmiPati Bharat
Registration No. - MPGOVT/IND/03/27/01/18065/15

मंगल दोष निवारण उपाय


जीवन में मंगल कार्य की अनुमति देने वाले, समस्त पृथ्वी के युवराज, पृथ्वीपुत्र मंगल में आज आपकी कृपा एवं माँ सुमंगला के आर्षीवाद से आपके गृहस्थ जीवन में मंगलकारी होने के विरूद्ध जो षड़यन्त्र या अमंगल शब्द कुछ दैवज्ञवर्ग द्वारा आपको बताया है। उसके दोष निवारण के लिए जो संबंधित ज्योतिष ग्रन्थों एवं यदाकदा मुझे प्राप्त हुई उसे संग्रहित कर आपके लिए जो भक्ति विवाह कार्य एवं अन्य मांगलिक कार्यों में आपको विहनकर्ता दर्षाया है। उसके अपनी बुद्धि से जनमानस तक पहुँचाने का प्रयास कर रहा हूँ आप मुझे आर्षीवाद प्रदान करें। क्योंकि राजाधिराज महाकाल एवं देवी महाकाली के आर्षीवाद के बाद आपकी अनुमति आवष्यक है। अतः मैं नतमस्तक होकर आपको प्रणाम करता हूँ।



© 2016 . All rights reserved | Design by Creato Web IT Solutions